जोखिम प्रकटीकरण

जोखिम प्रकटीकरण

वित्तीय बाज़ार में ट्रेडिंग करने पर उच्च स्रीय जोखिम रहती है। अधिकांश आम जोखिमों को समझने के लिए कृपया यह पेज पढ़ें। कृपया नोट करें कि यह सूची संपूर्ण नहीं है।

1. मार्जिनल ट्रेड जोखिम

1.1. लीवरेज का उपयोग करते समय दरों में छोटे बदलाव से बड़ा मुनाफ़ा भी हो सकता है और बड़ा नुकसान भी। ग्राहक समझता है कि फॉरेक्स दर या उपयोग किए जा रहे अन्य किसी साधन की दरों में अवांछित बदलाव से निवेशित राशि का संपूर्ण या आंशिक नुसकान हो सकता है।

1.2. ग्राहक द्वारा अपनाई गई गलत ट्रेडिंग रणनीति के कारण या उनके द्वारा पूंजी प्रबंधन के नियमों की उपेक्षा के कारण हुए नुकसान के लिए कंपनी ज़िम्मेदार नहीं रहेगी।

2. प्रौद्योगिकी जोखिमें

2.1. सॉफ्टवेयर या दूरसंचार सुविधाओं की विफलता या अन्य तकनीकी खामियों की वजह से हो सकने वाली जोखिमों को ग्राहक स्वीकार करता है।

2.2. MetaTrader टर्मिनल प्रयोक्ता दिशानिर्देश में दिए गए निर्देशों का पालन न करने के कारण ग्राहक को हुए नुकसान के लिए कंपनी ज़िम्मेदार नहीं होगी।

2.3. पिछले ऑर्डर पर प्रक्रिया के नतीज़े मिलने से पहले ही ऑर्डर दोहराने पर, ऐसे अनियोजित ट्रेडिंग लेनदेन निष्पादन में शामिल जोखिम को ग्राहक स्वीकार करता/करती है।

2.4. ग्राहक को पासवर्ड सुरक्षित रखना होगा और सुनिश्चित करना होगा कि ट्रेडिंग टर्मिनल किसी तृतीय पक्ष की पहुंच में न हो। ग्राहक ट्रेडिंग के दायित्वों के अधीन होगा, जो एक और उसने और दूसरी ओर कंपनी ने स्वीकारे हैं और जो ग्राहक के पासवर्ड द्वारा निष्पादित होते हैं, चाहे पासवर्ड किसी तृतीय पक्ष ने इस्तेमाल किया हो।

2.5. ग्राहक समझता है कि साधारण भाषा में मौजूद जानकारी (ईमेल, इंस्टेंट मैसेंजर सेवा आदि पर भेजी गई) अनधिकृत पहुंच के प्रति सुरक्षित नहीं है।

3. अप्रत्याशित घटनाएं

3.1. अप्रत्याशित घटनाओं, जैसे युद्ध, आतंकी हमला, प्राकृतिक आपदाएं, वित्तीय बाज़ार में ट्रेडिंग का बंद होना, मुद्रा हस्तक्षेप, सरकारी निर्णय, लिक्विडिटी में तेज़ गिरावट के साथ वित्तीय बाज़ार में अस्थिरता, और प्रतिकारक कार्य प्रक्रियाओं में अन्य लक्षणीय बदलाव आदि, के कारण ग्राहक को हुए नुकसान के लिए कंपनी ज़िम्मेदार नहीं होगी।

site call
live chat